Categories: क्रिकेट

भारतीय मूल के है ये 10 क्रिकेटर, मगर विदेशी टीमो के लिये खेलते है

भारत में क्रिकेट किसी भी धर्म से कम नही माना जाता है. लोग इसके बहुत ही ज्यादा फैन है और लोग इस खेल को बहुत ही ज्यादा मानते भी है इस बात से कोई भी इनकार कर नही सकता है. मगर फिर एक बात यहाँ पर और आ जाती है और वो ये कि भारतीय मूल के क्रिकेटर सिर्फ हमारे देश के लिए नही बल्कि बाकी और भी देशो के लिए खेलते है. या तो ये खुद भारतीय मूल के है या फिर इनका कभी परिवार भारत का हुआ करता था जो अब बाहर जाकर के बस गये है.

आसिफ करीम

अगर हम लोग बात करते है आसिफ करीम की तो वो केन्या की क्रिकेट टीम के कप्तान रह चुके है जो भारतीय मूल के खिलाड़ी है. उन्होंने केन्या की टीम की तरफ से 34 के करीब वन डे मैच खेले है और उनका प्रदर्शन अगर हम लोग देखते है तो औसतन रूप से अच्छा ही रहा है और इस बात में कोई भी शक नही है.

Advertisement

नसीर हुसैन

नसीर हुसैन को बहुत कम लोग ही जानते है और उनका नाम आपने भी शायद ही सुना होगा लेकिन क्रिकेट के गूढ़ प्रेमी इनको जानते है कि इन्होने इंग्लैंड की तरफ से काफी लम्बे समय से क्रिकेट खेला है और ये कही और के नही बल्कि चेन्नई के जन्मे हुए है. इनको देखकर के ही कोई भी इनको पहचान सकता है.

हाशिम अमला

हाशिम अमला अभी हाल ही के मॉडर्न युग के क्रिकेट में एक बहुत ही जाने माने और फेमस बल्लेबाज है जो साउथ अफ्रीका के लिए क्रिकेट खेलते रहे है. उनका नाम अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट जगत में काफी अधिक है और बात करे उनके भारत से कनेक्शन की तो उनका परिवार मूल रूप से गुजराती है जो दक्षिण अफ्रीका में जाकर के बस गया था.

Advertisement

रोहन कन्हाई

रोहन की बात अगर हम लोग करते है तो वो भी भारतीय मूल के क्रिकेटर ही है. वैसे अधिकतर लोग तो उनके नाम से ही उनको पहचान गये होगे और बात करे उनके क्रिकेट करियर की तो वो वेस्ट इंडीज के काफी पोपुलर और जाने माने खिलाड़ी रहे है जिनकी पहचान लम्बे समय तक रही है. उन्होंने अपने पूरे करियर के दौरान कुल 6 हजार रन बनाकर के एक रिकॉर्ड खड़ा किया था.

दीपक पटेल

दीपक पटेल काफी पोपुलर और जाना माना नाम है और वो माइग्रेशन में अलग ही लेवल पर चले है. वो है तो भारतीय मूल के लेकिन उनका जन्म केन्या में हुआ था, फिर वो 10 साल के थे तब इंग्लैंड में चले गये और क्रिकेट में उनकी दिलचस्पी रही मगर उनका चयन वहां की टीम में नही हुआ तो फिर वो इंग्लैंड चले गये जहाँ पर वो खेले और उनकी परफॉरमेंस न्यूजीलैंड क्रिकेट टीम में काफी अच्छी रही है इस बात से इनकार नही किया जा सकता है.

Advertisement

जीतन पटेल

जीतन पटेल भी भारतीय मूल के खिलाड़ी है लेकिन वो न्यूजीलैंड की टीम के खिलाड़ी रहे और सबसे दिलचस्प बात ये रही कि वो भारत और न्यूजीलैंड के मैच का हिस्सा भी रहे है जिसमे वो भारत के खिलाफ क्रिकेट मैदान में खेले और उनका प्रदर्शन औसतन ठीक ठाक रहा है.

गुरिंदर संधु

गुरिंदर संधू का नाम भी आपने जरुर सुना होगा अगर आप क्रिकेट वर्ल्ड को काफी करीबी से देखते रहे है और इसमें अपनी विशेष दिलचस्पी भी रखते है. वो ऑस्ट्रलियन क्रिकेट टीम में रह चुके है और बतौर फास्ट गेंदबाज उनकी काफी तारीफ़ देखती रही है. एक बार वो आईपीएल का हिस्सा भी बने थे जब उन्होंने दिल्ली की टीम के तौर पर खेला था और औसतन देखे तो वो एक अच्छे खिलाड़ी साबित हुए है.

Advertisement

इश सोढ़ी

इश सोढ़ी की अगर हम बात करे तो ये भी एक बड़े और जाने माने क्रिकेटर है जिनका नाम पंजाबा के लुधियाना शहर में ही हुआ था मगर फिर उनके माता पिता उनके साथ में न्यूजीलैंड में रहने के लिए चले गये जहाँ पर इश सोढ़ी ने अपनी पहचान क्रिकेटर के तौर पर बनाई और काफी सफल भी हुए. वो अनिल कुंबले को अपना आदर्श क्रिकेट में मानते है.

रवि बोपारा

इसी लिस्ट में एक और बड़ा नाम आता है रवि बोपारा का जिनका जिक्र तो आपने भी खूब सुना होगा जो भारतीय मूल के है लेकिन बतौर क्रिकेटर वो एक इंग्लैंड क्रिकेट टीम के सदस्य के तौर पर ही जाने जाते रहे है और उन्होंने काफी अच्छा खेला भी है. कुल 120 वन डे मैचो में उन्होंने 2600 रन बनाये है जो एक तरह से देखे तो अच्छा स्कोर है.

Advertisement

मोंटी पनेसर

मोंटी एक सिख व्यक्ति है जिनका परिवार मूल रूप से भारत से ही है और सिखों का तो मूल स्थान ही पंजाब रहा है लेकिन उनके घर के लोग फिर इंग्लैंड शिफ्ट हो गये थे जिसके चलते हुए मोंटी ने वही पर अपना करियर बनाया और काफी अच्छे से खेलते हुए अपने करियर को बड़े लेवल पर खड़ा किया. आज क्रिकेट जगत में मोंटी का अच्छा ख़ासा और बड़ा नाम है.

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Yuvraj Solanki

This website uses cookies.