क्रिकेट

भारत में लोगों ने IPL को कोसा, वहीं न्यूजीलैंड के कप्तान ने कहा IPL से उन्हें वर्ल्ड कप में मिला फायदा

Advertisement

T20 वर्ल्ड कप से भारतीय टीम बाहर हो गई है। भारतीय टीम T20 वर्ल्ड कप 2021 के सेमीफाइनल तक भी नहीं पहुंच पाई और टीम के सभी खिलाड़ियों का इस टूर्नामेंट में बहुत ही खराब प्रदर्शन रहा। जिसके बाद भारतीय टीम के खिलाड़ियों से खफा भारतीय क्रिकेट के फैन में पूरा टिकरा आईपीएल पर फोड़ दिया। सभी का ऐसा कहना आया था कि आईपीएल की वजह से ही T20 वर्ल्ड कप में भारतीय खिलाड़ी खेल नहीं पाए। इसलिए भारत में आईपीएल को बैन करने के लिए बात चली।

Advertisement

केन विलियमसन ने कहा

परंतु वहीं दूसरी ओर न्यूजीलैंड के कप्तान केन विलियमसन ने आईपीएल को लेकर एक सकारात्मक बयान दिया है। केन विलियमसन ने कहा कि टी-20 वर्ल्ड कप के ठीक पहले आईपीएल में खेलना उनकी टीम के लिए बहुत ही फायदेमंद रहा। उन्होंने कहा कि टी-20 वर्ल्ड कप से पहले हुआ आईपीएल का दूसरा लिखवा काफी बदलाव से भरा हुआ था और दुबई की इस नई पिच पर खेलने का भी एक अनुभव उन्हें आ चुका था जिसके कारण उन्हें वर्ल्ड कप में काफी फायदा मिला।

Advertisement

कपिल देव ने भी आईपीएल को लेकर कही थी यह बात

बता दें कि टीम इंडिया आई पी एल 2021 शुरू होने के समय से ही लगातार दुबई में ही है। T20 वर्ल्ड कप में भारतीय टीम की ओर से खेलने वाले कई खिलाड़ी आईपीएल में खेल रहे थे। जिसके बाद टीम के खिलाड़ियों पर यह आरोप लगाया गया कि वह आईपीएल को अधिक महत्व दे रहे हैं और इंटरनेशनल मैच को कम। ऐसा आरोप टीम इंडिया के खिलाड़ियों पर लगाने वाले प्रमुख रूप से पूर्व क्रिकेटर और कप्तान कपिल देव रहे।

Advertisement

हेड कोच रवि शास्त्री ने भी आईपीएल को ठहराया था जिम्मेदार

Advertisement

कपिल देव का कहना था कि भारतीय टीम के खिलाड़ी आईपीएल को अधिक महत्व दे रहे हैं जिसके कारण वे इंटरनेशनल मैच पर फोकस नहीं कर पाए। T20 वर्ल्ड कप से टीम बाहर हो जाने पर भारतीय टीम के हेड कोच रवि शास्त्री ने भी यही बात कही। उन्होंने कहा कि अगर आईपीएल और टी-20 वर्ल्ड कप के बीच कुछ ज्ञात होता तो शायद परिणाम कुछ और होता। परंतु अब पश्चाताप करके कोई फायदा नहीं होगा क्योंकि टीम इंडिया पूर्ण रुप से टी-20 2021 वर्ल्ड कप से बाहर हो चुकी है।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.