Categories: मनोरंजन

मरने से पहले ये थी राजेश खन्ना की अंतिम इच्छा, भारी और रोते मन से दामाद अक्षय कुमार ने की थी पूरी

जब बात बॉलीवुड की पुरानी फिल्मों को लेकर की जाती है, तो बॉलीवुड में हिंदी सिनेमा जगत के दिग्गज अभिनेता के रूप में राजेश खन्ना को याद किया है. 29 दिसंबर, 1942 को जन्मे इस सख्स ने पंजाब ने अमृतसर का नाम गर्व से ऊँचा किया. राजेश अपने उस ज़माने में ही दोस्तों के साथ खेल-खेल में एक्टिंग किया करते थे. बाद में बड़े होकर उन्होंने फिल्मों की रंगीन दुनिया में कदम रखा. उन्होंने अपने जीवन में बेहतरीन अभिनय से लोगो का मनोरंजन किया. उस ज़माने में उनके अभिनय को लोग काफी पसंद किया करते थे. ऐसे में उन्होंने एक से बढ़ कर एक फिल्मे की.

आपको बता दे कि अपने जीवन में उन्होंने कुल 180 फिल्मों में काम किया. इस बात से ये अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि वे उस समय के फैमस अभिनेताओं में एक थे. राजेश खन्ना ने इस देश को कई अच्छी व हिट फिल्मे दी है. अपनी फिल्मों में बेहतर अभिनय के लिए ने उन्हें 3 बार फिल्म फेयर पुरस्कार दिया जा चुका है. सन 1969-71 में उनकी फिल्मे रिकॉर्ड तोड़ने लग गई थी और देखते देखते वह सुपरस्टार बन गए थे. उनके प्रशंसक उन्हें प्यार से ‘काका’ कहकर बुलाते थे.

Advertisement

अपनी ज़िन्दगी की महज 23 साल की उम्र में उन्होंने अपनी पहली फिल्म ‘आखिरी ख़त’ में काम किया, जो कि लोगों को काफी पसंद आई. इसके बाद उनकी अगली 3 फिल्मे भी काफी अच्छी चली. साल 1973 में उन्होंने डिम्पल कपाडिया से शादी कर ली. इसके बाद उनकी 2 बेटियाँ हुई. जिसमे से उन्होंने अपनी बड़ी बेटी ट्विंकल खन्ना की शादी अक्षय कुमार से करवा दी.

Advertisement

साल 2012 में दुनिया को कह गए अलविदा

60-70 के दशक के सुपरस्टार राजेश खन्ना ने अपनी फिल्मों से करोड़ों लोगों का दिल जीत लिया था. 18 जुलाई, 2012 में लोगों के प्रिय ‘काका’ ने अस्त होते हुए सूरज की तरह इस दुनिया को अपने बंगले ‘आशीर्वाद’ में छोड़ दिया. वह सभी को छोड़ इस दुनिया से चल बसे थे.
आपको बता दे कि राजेश खन्ना को कैंसर की बीमारी थी, जब उन्हें अपनी बीमारी के बारे में पता चला तो उन्होंने सिगरेट, शराब व अन्य नशों को छोड़ दिया था. लेकिन फिर उन्हें पता चल चुका था कि यह बीमारी लाइलाज है.

Advertisement

आखिर क्या थी राजेश खन्ना की अंतिम इच्छा??

Advertisement

अपनी अंतिम घडी में उनका इलाज़ में मुंबई के लीलावती अस्पताल में किया जा रहा था. जब उनकी तबियत ज्यादा बिगड़ने लग गई तो अस्पताल में मौजूद उनकी पत्नी डिम्पल कपाडिया और दामाद अक्षय कुमार को उन्होंने अपनी अंतिम इच्छा बताई. उन्होंने कहा कि वे अपनी अंतिम सांस अपने बंगले में लेना चाहते है और वे मरने के बाद भी अपने फैन्स के बीच सुपरस्टार की तरह जीना चाहते है.
उनकी इस इच्छा को पूरा करने के लिए उनकी पत्नी और दामाद उन्हें उनके बंगले ‘आशीर्वाद’ पर ले गए, जहा पर उन्होंने दम तोड़ दिया. इसके बाद उनके लाखों फैन्स के बीच एक सुपरस्टार की तरह उन्हें आखिरी विदाई दी गई.

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Yuvraj Solanki

This website uses cookies.