Categories: न्यूज़

पहलवान निशा दहिया ने जीता गोल्ड मेडल, बानी नेशनल चैंपियन

Advertisement

उत्तर प्रदेश के गोंडा जिले में महिला पहलवान निशा दहिया ने गोल्ड मेडल जीता है। निशा दहिया के द्वारा यह गोल्ड मेडल 65 किलोग्राम कैटेगरी में जीता गया है। निशा दहिया ने पंजाब की जसप्रीत कौर को हराकर चैंपियनशिप का गोल्ड मेडल अपने नाम कर लिया। इस जीत के बाद निशा दहिया को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के भी द्वारा बधाइयां दी गई। हालांकि जीत के पहले कुछ ऐसा हुआ जिसके कारण निशा दहिया को काफी परेशानी झेलनी पड़ी।

Advertisement

निशा दहिया की हत्या की उड़ी थी अफवाह

बीते बुधवार को ही किसी ने सोशल मीडिया पर यह अफवाह उड़ा दी कि निशा दहिया का निधन हो चुका है। दरअसल वह निशा दहिया कोई और थी परंतु लोगों ने उस लड़की को निशा दहिया पहलवान समझ लिया। इस कारण अनेक लोग निशा के घर फोन करने लगे और इस खबर के बारे में जानकारी लेने लगे। पूरे दिन लगातार फोन आने से निशा दहिया काफी परेशान हो गई थी और अंत में उन्होंने अपना फोन ही बंद कर दिया क्योंकि उन्हें अगले दिन होने वाले मैच पर फोकस करना था।

Advertisement

वीडियो बनाकर निशाने अफवाह को झूठ बताया

निशा दहिया की मौत की खबर सोशल मीडिया पर इतनी तेजी से फैली कि लोग उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि देने लगे। जिसके बाद निशा दहिया को स्वयं एक वीडियो बना करके इस अफवाह का खंडन करना पड़ा और लोगों से कहना पड़ा कि वह अभी भी जिंदा है। निशा दहिया ने वीडियो बनाकर लोगों से कहा कि वे उत्तर प्रदेश के गोंडा में नेशनल खेलने आई है बिल्कुल ठीक है। अफवाह उड़ाई गई थी कि सोनीपत में निशा दहिया की गोली मारकर हत्या कर दी गई है।

Advertisement

अपनी जीत पर बोली निशा

अपनी जीत पर बात करते हुए दिशा दहिया ने कहा कि दे इस जीत से काफी खुश है और वे गोल्ड मेडल जीतने के लिए काफी लंबे समय से प्रयास कर रही थी। उन्होंने कहा कि अभी वजन कम करने की वजह से वह काफी थकी हुई है और बहुत कमजोरी महसूस कर रही है और इसी बीच उनकी मौत की अफवाह ने उसे और भी परेशान कर दिया था जिसके कारण भी काफी थकान महसूस कर रही थी। उन्होंने कहा कि लोग मुझे मेरे काम की वजह से पहचाने ना की किसी अफवाह की वजह से।

Advertisement

निशा दहिया केवल 23 वर्ष की है और इससे पहले भी अंडर 23 चैंपियनशिप में ब्रांच मेडल जीत चुकी है। इसके साथ ही वे सीनियर नेशनल में तीन बार गोल्ड मेडल जीत चुकी है। वही निशा दहिया के कोच की बात की जाए तो उनका नाम सत्यवर्त कादियान हैं जिन्हें अर्जुन पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है। निशा दहिया के द्वारा तीसरा गोल्ड जीते जाने पर उनके फैंस उन्हें काफी शुभकामनाएं दे रहे हैं।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.