Connect with us

Hi, what are you looking for?

न्यूज़

वैक्सीनेशन सेंटर पर एक बुजुर्ग की पुलिसकर्मी ने कर दी पिटाई, बुजुर्ग सेना के रिटायर्ड फौजी है

पुलिस वाले हम सब की रक्षा के लिए होते हैं लेकिन अक्सर ऐसे वीडियो वायरल होते दिखाई देते हैं जिनमें पुलिस वाले ही आम जनता पर नाइंसाफी करते हुए दिखाई देते हैं ऐसा ही एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। दरअसल पुलिस वाले जिस बुजुर्ग को पीटते हुए दिखाई दे रहे हैं वह बुजुर्ग कोई आम व्यक्ति नहीं है बल्कि सेना के सेवानिवृत्त फौजी है। हालाँकि हमारी वेबसाइट द इंडियन पीपल इस वीडियो की पुष्टि नहीं करती है।

ABPLive

ऐबीपी लाइव के अनुसार यह घटना उत्तर प्रदेश के कन्नौज जिले में घटित हुई है। जिस बुजुर्गों के साथ पुलिस वालों ने मारपीट की है उनका नाम राजेंद्र बहादुर बताया जा रहा है। राजेंद्र बहादुर सेना के रिटायर्ड कैप्टन है। एक बुजुर्ग दंपत्ति वहां के सरकारी अस्पताल में कोरोना की वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचे थे। उसे अस्पताल में भीड़ को नियंत्रित करने के लिए पुलिस वालों की भी तैनाती की गई थी।

Advertisement

बताया जा रहा है कि पीड़ित बुजुर्ग की वहां पर तैनात पुलिस वालों के साथ किसी बात को लेकर छोटी सी अनबन हो गई। थोड़ी देर बाद पीड़ित बुजुर्ग और पुलिस वालों के बीच भारी बहस होने लगी वह इतनी बढ़ गई कि पुलिस वालों ने पीड़ित बुजुर्गों को पीटना शुरू कर दिया और फिर वह पीड़ित बुजुर्ग को घसीटते हुए गाड़ी में बैठा कर पुलिस स्टेशन ले गए।

इसी दौरान वहां पर खड़े हुए किसी व्यक्ति ने इस पूरी घटना का वीडियो बना लिया। वीडियो वायरल होते ही पुलिस कर्मियों की इस हरकत की खूब निंदा की जा रही है। इसके चलते जिले के एक बड़े अधिकारी पुलिस कर्मियों के बचाव में आगे आए और उन्होंने सीधे पीड़ित बुजुर्ग को ही दोषी बता दिया। पुलिसकर्मियों के बचाव में उन अफसर ने कहा कि फौजी बुजुर्ग जबरदस्ती महिलाओं की लाइन में जाकर घुस गए और उन्हें रोकने पर उन्होंने पुलिस वालो से बदसलूकी की जिसके चलते वहां पर तैनात पुलिसकर्मियों ने उन्हें रोकना चाहा परंतु वे पुलिसकर्मियों से बहस बाजी करने लगे इसीलिए पुलिसकर्मि उन्हें उठाकर थाने ले आए।

Advertisement

पीड़ित बुजुर्ग को दोषी ठहराने के पुलिस वालों के इस रवैये से स्थानिक गांव वाले बहुत ही नाराज हुए और फिर गांव वालों ने स्थानिक पुलिस स्टेशन छिबरामऊ का घेराव कर लिया। सभी गांव वाले बुजुर्ग दंपत्ति के बचाव में सामने आए और सब ने मिलकर थाना छिबरामऊ का घेराव किया। जिसके बाद मामले की गंभीरता को समझते हुए वहां के एसपी प्रशांत वर्मा ने तुरंत ही मामले की जांच करते हुए संज्ञान लिया और जिन पुलिसकर्मियों पर रिटायर्ड फौजी की मारपीट का आरोप लगाया गया उन्हें तुरंत सस्पेंड कर दिया।

Advertisement
Facebook Comments
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

धर्म

हर कोई व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में कोई न कोई कार्य करता रहता है. हर कोई अपने जीवन में कुछ हासिल कर लेना चाहता...

मनोरंजन

फिल्म जगत में वैसे तो हीरोज की ही चलती आयी है और ये बात हम लोग काफी ज्यादा अच्छे तरीके से जानते भी है...

मनोरंजन

अभी हाल ही में तांडव वेब सीरीज रिलीज हुई है जिसको लेकर के काफी ज्यादा विवाद हो रहे है. अगर आपको जानकारी न हो...