Categories: न्यूज़

भारत में शुरू हुई रामायण एक्सप्रेस, रामायण से जुड़े स्थलो का कराएगी दर्शन, इतना होगा किराया

Advertisement

कोरोना का प्रभाव कम होते ही भारतीय रेल ने भी अपनी रेल सुविधाओं को धीरे धीरे शुरू करना आरंभ कर दिया है। ऐसे में भगवान राम से जुड़े हुए तीर्थ स्थलों का दर्शन करवाने के लिए भारत सरकार और रेल मंत्रालय के द्वारा आरंभ की गई रामायण सर्किट एक्सप्रेस भी 7 नवम्बर को पहली बार रवाना हुई। यह ट्रेन भगवान राम से जुड़े हुए सभी धार्मिक स्थलों से होकर गुजरेगी। इस ट्रेन की जानकारी स्वयं आईआरसीटीसी के द्वारा शेयर की गई है।

Advertisement

यह ट्रेन सुपर डीलक्स एसी है। जिसमें 2 श्रेणी के एसी कोच है। जिसमें फर्स्ट क्लास और द्वितीय श्रेणी की एसी कोच शामिल है। इसके साथ ही इस ट्रेन में सभी को सुरक्षा से लैस है जिनमें सीसीटीवी कैमरा सहित हर कोच में एक गार्ड उपलब्ध कराया गया है। इसके साथ ही इसी ट्रेन में दो डाइनिंग कोच है जिनमें एक मॉडर्न किचन भी शामिल है। इस ट्रेन में बहुत सारी सुविधाएं उपलब्ध कराई गई है जो आधुनिक समय के एक चलते फिरते होटल नुमा शक्ल में परिवर्तित की गई है।

यह ट्रेन दिल्ली के सफदरजंग से और अयोध्या होते हुए सीतामढ़ी और चित्रकूट समेत कई प्रमुख स्थल जिनसे भगवान राम का संपर्क रहा उनका दौरा करेगी। ट्रेन की यात्रा का कुल समय 17 दिन है। इन 17 दिनों में यह ट्रेन भगवान राम से जुड़े प्रमुख स्थलों का दौरा करेगी। बता दें कि धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने के लिए इस ट्रेन की शुरुआत भारत सरकार के द्वारा की गई थी। इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन ने कहा कि 7 नवंबर को रवाना होने वाली इस ट्रेन के बाद अन्य चार ट्रेनें भी रवाना होगी। इस यात्रा के लिए IRCTC ने पैकेज बनाया है जिसमे सेकंड AC का किराया एक व्यक्ति का 82,950 रुपये है वहीं फर्स्ट AC का किराया 1,02,095 रुपया है। जिसमे होटल में रहने से लेकर खाने तक का इंतज़ाम है। 

Advertisement

बता दें कि आज यह पहली ट्रेन मुंबई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से रवाना होने वाली है परंतु इसके बाद 16 नवंबर के दिन मदुरई से दूसरी रामायण एक्सप्रेस रवाना होगी जोकि हम्पी द्वारा होते हुए नासिक पहुंचेगी वहां से फिर चित्रकूट का रास्ता लेगी फिर यात्रियों को प्रयागराज होते हुए वाराणसी ले जाएगी और फिर वापस मदुरई चली जाएगी। भगवान राम के संपर्क में आए हुए प्रमुख स्थलों से जोड़ने वाली यह ट्रेन धार्मिक पर्यटन को बढ़ावा देने की दिशा में सचमुच सरकार के द्वारा उठाया गया एक सर्वोत्तम कदम है जिसका लोगों के द्वारा काफी अभिनंदन किया जा रहा है और इस ट्रेन की काफी प्रशंसा की जा रही है।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.