Connect with us

Hi, what are you looking for?

न्यूज़

शराब पीने के मामले में पश्चिम बंगाल देश का दूसरा सबसे बड़ा राज्य, उत्तर प्रदेश पहले पर

शराब पीने के मामले में पश्चिम बंगाल से एक बहुत चौंकाने वाली खबर आई है। एक अध्ययन में पता चला है कि शराब पीने के मामले में पश्चिम बंगाल देश के दूसरे नंबर पर हैं। जबकि पहले क्रमांक पर देश का सबसे बड़ी आबादी वाला राज्य उत्तर प्रदेश बना हुआ है। दरसल विधि परामर्श कंपनी पीएलआर चैंबर्स और शोध एजेंसी इक्रियर दोनों के द्वारा एक साझा अध्ययन करके इस रिपोर्ट को तैयार किया गया है। इस रिपोर्ट में विशेष रुप से बंगाल की खेती के बारे में अध्ययन किया गया है।

रिपोर्ट के माध्यम से पता चला है कि पश्चिम बंगाल देश का दूसरा सबसे बड़ा शराब पीने वाला राज्य है। रिपोर्ट के अनुसार पश्चिम बंगाल राज्य में कुल 14 करोड़ संख्या शराब पीने वालों की है। अध्ययन में यह भी कहा गया है कि हाल ही में खुदरा कीमतों में भारी बढ़ोतरी हुई है। जिसके चलते देश में बनी हुई विदेशी शराब की बिक्री में विशेष तरह पश्चिम बंगाल राज्य में भारी गिरावट देखने को मिल रही है। सरकार के द्वारा शराब के ऊपर लागू किए गए करो में भी भारी बढ़ोतरी की गई है। इसी कारण से शराब के उद्योजको के लिए भी एक भारी चिंता का विषय बना हुआ है।

रिपोर्ट में दी गई जानकारी के अनुसार अध्ययन में यह उम्र में आया है कि वर्तमान में भारत विश्व में सबसे ज्यादा शराब की खपत करने वाला देश बन चुका है। आने वाले समय में भारत शराब के बाजार में विश्व का सबसे बड़ा देश बनने जा रहा है। रिपोर्ट में रोजगार के हेतु से शराब के बाजार की और देखा जाए तो इस क्षेत्र से लगभग 15 लाख लोग रोजगार प्राप्त कर रहे हैं। रिपोर्ट में हर चीज का बहुत वस्तुनिष्ठ अध्ययन अध्ययन किया गया है। रिपोर्ट के अनुसार साल 2019 में शराब के क्षेत्र का आर्थिक आकार लगभग 48.8 अरब डॉलर था जो कि बढ़कर साल 2020 में 52.5 अरब डॉलर हो गया।

हमारे देश में शराब पर कई राज्यों द्वारा सख्त रूप से पाबंदियां लगाई गई है और इतना ही नहीं शराब का विज्ञापन टेलीविजन पर दिखाने पर भी पाबंदियां लगाई गई है। बावजूद इसके देश में शराब पीने वालों की संख्या दिन पर दिन बढ़ती ही जा रही है। एक अध्ययन के अनुसार शराब पीने वालों में 20 से लेकर 29 वर्ष की आयु वर्ग के लोगों की संख्या में बढ़ोतरी देखने को मिली है। शराब का क्षेत्र देश की अर्थव्यवस्था में बहुत बड़ा योगदान करता है। यूरो मेंटल इंटरनेशनल नाम की एक शोध संस्थान की रिपोर्ट के अनुसार भारत में पिछले 10 वर्षों में शराब उद्योग में दोगुनी बढ़ोतरी हुई है।

शराब पीना सेहत के लिए हानिकारक है। कृपया इससे दुरी बनाये रखे। 

Facebook Comments
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

यह भी पढ़ें

धर्म

हर कोई व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में कोई न कोई कार्य करता रहता है. हर कोई अपने जीवन में कुछ हासिल कर लेना चाहता...

मनोरंजन

फिल्म जगत में वैसे तो हीरोज की ही चलती आयी है और ये बात हम लोग काफी ज्यादा अच्छे तरीके से जानते भी है...

स्वास्थ्य

आयुर्वेद अपने आप में बहुत ही अधिक शानदार चीज मानी जाती है और हम लोग इस बात को मानते भी है कि कही न...