Connect with us

Hi, what are you looking for?

जरा हटके

दो भारतीय भी हवाई जहाज के बाहर लटक कर गए थे ब्रिटेन, मौत से खेल कर भी एक ज़िंदा बचा

हाल ही में अफगानिस्तान से कुछ वीडियो वायरल हुए। वीडियो काफी भयावह है। उन वीडियो को उसको देख कर शायद हम विचलित भी हो जाएंगे। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल एयरपोर्ट से एक अमेरिकन हवाई जहाज एक ऑफ कर रहा है और हवाई जहाज के पास से सैकड़ों लोग रनवे पर दौड़ रहे हैं इतना ही नहीं कुछ लोग हवाई जहाज केविंस पर लटक कर अफगानिस्तान छोड़कर भागने का प्रयास करके दिखाई दे रहे हैं। इसी बीच खबर भी आई थी जो लोग प्लेन के बाहर लटके हुए थे उनमें से कुछ लोग जमीन पर गिरे और उनकी मौत हो गई। इस लेख में हम आपको बताने जा रहे हैं कि ऐसे ही अनेकों मामले अब तक हो चुके हैं जिनमें हवाई जहाज के बाहर लटककर जाने वालों की मौत हुई है। लेकिन कुछ लोग ऐसे भी हैं जो जीवित बच गए जिनमें से एक भारतीय शख्स भी है।

Advertisement

यूएस फेडरल एविएशन एडमिनिस्ट्रेशन के द्वारा एक अध्ययन किया गया अध्ययन में पाया गया कि 1947 से लेकर 2015 तक ऐसे 113 मामले दर्ज किए जा चुके हैं जिनमें लोगों ने हवाई जहाज के व्हील वेल में बैठकर यात्रा करने का बेवकूफी भरा कदम उठाया जिनमें से कुल 86 लोगों की मौत हो गई। कुछ लोगों की मौत हवा में उच्च वायुमंडलीय दाब के कारण हुई तो कुछ लोगों की मौत ऊपर के ठंडे तापमान की वजह से हुई, कुछ लोगों की मौत टेकऑफ के दौरान हुई तो कुछ लोगों की मौत लैंडिंग के दौरान हुई।

नवभारत टाइम्स के अनुसार सन 1996 में पंजाब के रहने वाले दो भाई पंकज सैनी और विजय सैनी ने भी इसी प्रकार से हवाई जहाज के बाहर लटक पर प्रवास किया था। दोनों भाई भारत से ब्रिटेन जाना चाहते थे। प्रदीप की उम्र 22 वर्ष थी और विजय की उम्र केवल 18 वर्ष थी। इस यात्रा के दौरान 18 वर्षीय विजय की मौत हो गई और बड़े भाई प्रदीप जीवित बच गए। जानकारी के मुताबिक दोनों भाई पंजाब के रहने वाले थे जिन पर एक अलगाववादी समूह के साथ संबंध होने का आरोप लगा था जिसके चलते वे दोनों भारत से भावना चाहते थे। इसीलिए उन्होंने किसी भी तरह से बचकर के हवाई जहाज के व्हील वेल मैं बैठकर यात्रा करने का निर्णय लिया।

Advertisement

दर्शन प्रदीप और विजय जी श्रीमान से सफर कर रहे थे वह ब्रिटिश एयरवेज का सेवन 747 हवाई जहाज था जो लंदन के हीथ्रो की ओर जा रहा था। यात्रा के दौरान -60 डिग्री तापमान के कारण छोटे भाई विजय की मौत हो गई उसका शरीर पूर्ण रूप से जम चुका था। परंतु सौभाग्य से 40000 फीट की ऊंचाई और 4000 मील की यात्रा तय करने के बाद भी प्रदीप सैनी जीवित बच गया और लंदन के हीथ्रो पहुंच गया। जैसे एयरपोर्ट पर हवाई जहाज लैंड हुआ वहां के पुलिस कर्मियों ने प्रदीप को पकड़ लिया और तुरंत प्रदीप को डिटेंशन कैंप में डाल दिया गया। बताया जा रहा है कि प्रदीप आज भी चित्रों में ही रहता है। वह उसी एयरपोर्ट पर काम करता है। उसकी शादी भी हो चुकी है और अब वह अपने परिवार के साथ लंदन में ही रह रहा है।

Advertisement
Facebook Comments
Click to comment

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

यह भी पढ़ें

धर्म

हर कोई व्यक्ति अपने दैनिक जीवन में कोई न कोई कार्य करता रहता है. हर कोई अपने जीवन में कुछ हासिल कर लेना चाहता...

मनोरंजन

फिल्म जगत में वैसे तो हीरोज की ही चलती आयी है और ये बात हम लोग काफी ज्यादा अच्छे तरीके से जानते भी है...

मनोरंजन

अभी हाल ही में तांडव वेब सीरीज रिलीज हुई है जिसको लेकर के काफी ज्यादा विवाद हो रहे है. अगर आपको जानकारी न हो...