विशेष

डॉ. शिप्रा धर बेटी पैदा होने पर नहीं लेती कोई फीस, अस्पताल में बांटती है मिठाई

Advertisement

हमारे देश में आज भी कई ऐसे डॉक्टर से जो समाज सेवा के काम में रुचि रखते हैं। ऐसे डॉक्टर है जो अपने पेशेंट से एक रुपए भी पैसा नहीं लेते बल्कि उनकी अन्य तरीकों से मदद करते रहते हैं। ऐसी ही एक डॉक्टर उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रहती है। उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रहने वाली डॉ शिप्रा धर अपने नर्सिंग होम में बेटी के पैदा होने पर बेटी के माता-पिता से एक रुपए भी चार्ज नहीं थी। इसके उलट वे अपने पूरे अस्पताल में बेटी पैदा होने पर मिठाईयां बांटती है और खुशियां मनाती है।

Advertisement

बेटी पैदा होने पर नहीं लेती पैसे

उत्तर प्रदेश के वाराणसी में रहने वाली डॉक्टर शिप्रा धर दरअसल एक खुद का नर्सिंग होम चलाती है। डॉक्टर शिप्रा धर का यह नर्सिंग होम काफी प्रचलित है। डॉक्टर शिप्रा धर के नर्सिंग होम में यदि किसी महिला को बेटी पैदा होती है तो डॉक्टर शिप्रा उनसे एक रुपए भी पैसे नहीं लेती। बता दे कि डॉक्टर शिप्रा का हाथ बढ़ाने के लिए उनके पति डॉक्टर एमके श्रीवास्तव भी डॉक्टर शिप्रा की मदद करते हैं। दोनों ही पति पत्नी के द्वारा चलाया जा रहा यह कार्य काफी सराहनीय है और लोग उनकी काफी प्रशंसा करते हैं।

Advertisement

इस प्रकार करती है लोगों की मदद

बता दें कि डॉक्टर शिप्रा ने बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी से एमबीबीएस किया है और एमडी किया है। डॉ शिप्रा ना केवल फ्री में बेटी की डिलीवरी करती है बल्कि वह अन्य सामाजिक कार्यों से भी जुड़ी हुई रहती है। वे कुपोषण से ग्रसित बच्चों और लोगों को विशेष उपचार देती है। इसके साथ ही वह अपनी तनख्वाह में से पैसे बचाकर गरीब और जरूरतमंद लोगों को अनाज और कपड़े जैसी चीजें देती है। डॉ शिप्रा हमेशा से ही समाज सेवा करने के लिए जागरुक और उत्सुक रहती है।

Advertisement

प्रधानमंत्री मोदी कर चुके हैं तारीफ

Advertisement

डॉ शिप्रा का यह सराहनीय कार्य जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को पता चला तो उन्होंने खुले मंच से वाराणसी पहुंचकर डॉ शिप्रा की तारीफ की और वे खुद डॉक्टर शिप्रा से मिलने चले आए। बता दें कि डॉक्टर शिप्रा को लड़कियों के प्रति काफी लगाव है और इसलिए वे अपने काम में से समय निकालकर लड़कियों को शिक्षा भी देती है। इतना ही नहीं वह लड़कियों की पढ़ाई लिखाई में भी पैसे दान करती है। आज के समय में डॉक्टर शिप्रा जैसे लोग समाज में एक नई प्रेरणा जागृत कर रहे हैं जिन्हें देखकर बेटियों का सम्मान और अधिक बढ़ जाता है।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.