विशेष

एक समय सड़कों पर मांगती थी भीख, नृत्य से बनाई अपनी पहचान, मिला पद्म श्री का सम्मान

Advertisement

बीते सोमवार को राष्ट्रपति भवन में हर वर्ष की तरह इस वर्ष भी पदमा पुरस्कारों का वितरण देश में विविध क्षेत्रों में अमूल्य योगदान देने वाले महानुभावों को दिया गया। इस अवसर पर सबसे अधिक आकर्षित करने वाले व्यक्ति थे मंजम्मा जोगाती। मंजम्मा जोगाती को कला के क्षेत्र में पद्मश्री सम्मान से पुरस्कृत किया गया। इस अवसर पर काफी खुश दिखाई दिए और पुरस्कार स्वीकार करते समय उन्होंने राष्ट्रपति जी का इस प्रकार से अभिवादन किया वह देखने लायक था।

Advertisement

इस तरीके से दिया राष्ट्रपति जी को आशीर्वाद

मंजम्मा जोगाती जैसे ही राष्ट्रपति के समक्ष पुरस्कार लेने के लिए पहुंची तो उन्होंने अपने साड़ी के पल्लू से राष्ट्रपति जी की नजर उतारी और उनका अभिवादन करते हुए राष्ट्रपति जी को आशीर्वाद दिया। मंजम्मा जोगाती का यह वीडियो सोशल मीडिया पर काफी वायरल हुआ। कहते हैं ट्रांसजेंडर व्यक्ति के द्वारा दिया हुआ आशीर्वाद बहुत ही शुभ होता है। ऐसे में यह अद्भुत वीडियो सोशल मीडिया पर काफी सुर्खियां बटोर रहा है।

Advertisement

कौन है मंजम्मा जोगाती

मंजम्मा जोगाती का जन्म कर्नाटक के बेल्लारी में हुआ था। बचपन में वह मंजूनाथ शेट्टी के रूप में पैदा हुई थी। उन्होंने दसवीं तक अपनी शिक्षा पूरी की और 15 वर्ष की आयु में उन्हें ऐसा महसूस होने लगा कि उनके अंदर स्त्री के तत्व है। यह बात उन्होंने अपने माता पिता को बताई तो माता पिता ने वहीं के एक विशेष मंदिर में मंजूनाथ के लिए अनुष्ठान करवाया। इस अनुष्ठान के तहत भक्तों की भगवान से शादी कराई जाती है। परंतु इस शादी के बाद मंजूनाथ अपने घर वापस नहीं गए।

Advertisement

संघर्ष भरा जीवन बिता

Advertisement

मंजूनाथ शेट्टी अब मंजम्मा जोगाती बन चुके थे। सड़कों पर घूम घूम कर भीख मांग कर अपना पेट पालते थे। इस दौरान उन्हें काफी प्रताड़ना का सामना भी करना पड़ा और उन्हें यौन शोषण का भी सामना करना पड़ा। संयोग से मंजम्मा जोगाती की मुलाकात कल्लवा जोगाती से हुई। कल्लवा जोगाती जी जोगाती नृत्य के बड़े ज्ञाता थे। मंजम्मा जोगाती ने कल्लवा जोगाति से जोगाती नृत्य सीखा और उसमे भी निपुण हो गई। पूरे राज्य में मंजम्मा जोगाती के द्वारा यह नृत्य किए जाने से उन्होंने प्रसिद्धि भी प्राप्त की। कुछ समय बाद कल्लवा जोगाती की मृत्यु हो गई तो उनके निधन के बाद उस डांस ग्रुप की प्रमुख मंजम्मा जोगाती बना दी गई। मंजम्मा जोगाती कर्नाटक जनपद अकादमी की पहली ट्रांसजेंडर महिला प्रमुख के रूप में चुनी गई।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.