विशेष

खेतों में करती थी थी मज़दूरी, पहली बार में ही निकाल लिया PSC

Advertisement

अपनी सफलता को प्राप्त करने के लिए पूर्ण रूप से समर्पित होकर मेहनत और लगन करने वाले व्यक्ति को अपना लक्ष्य प्राप्त होकर ही रहता है। मजबूत हौसला और बुलंद इरादों को लेकर आगे बढ़ने वाला व्यक्ति एक न एक दिन कामयाबी की शिखर को छू ही लेता है। ऐसी ही कहानी है केरल की रहने वाली सेल्वा कुमारी की। जो किसी समय खेतों में मजदूरी का काम किया करती थी और आज वह केरल की पब्लिक सर्विस कमीशन में अफसर बन चुकी है।

न्यू इंडियन एक्सप्रेस

न्यू इंडियन एक्सप्रेस के अनुसार सेल्वा कुमारी का बचपन काफी मुश्किलों से बीता। सेल्वा कुमारी की दो छोटी बहनें हैं और वे अपनी मां और दादी के साथ एक छोटे से कमरे में रहती है। जानकारी के अनुसार उनके पिता बचपन में ही उनकी मां और उन्हें छोड़ कर चले गए थे जिसके बाद घर का पूरा पालन पोषण उनकी मां ने ही किया। घर चलाने के लिए सेल्वा कुमारी की मां इलायची के खेतों में काम किया करती थी। सेल्वाकुमारी भी अपनी मां का हाथ बटाने के लिए खेतों में मजदूरी करती थी।

Advertisement

सेल्वा कुमारी ने तिरुअनंतपुरम की वूमंस कॉलेज से मैथमेटिक्स में ग्रेजुएशन किया और बाद में उन्होंने एमफिल भी किया। वह बचपन में ही पढ़ाई में बहुत होशियार थी जिसके बाद उन्होंने सिविल सर्विसेज की तैयारी की और अपने पहले ही प्रयास में उन्होंने केरल लोक सेवा आयोग की परीक्षा पास कर ली और अफसर बन गई। सेल्वा कुमारी की सफलता से उनका पूरा परिवार काफी खुश है।

Advertisement

सेल्वा कुमारी को बचपन में मलयालम बोलने में काफी दिक्कत होती थी जिसके कारण उन्हें स्कूल में भी भाषा के कारण काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। मलयालम ना बोलने के कारण स्कूल में उनके दोस्त काफी उनका मजाक उड़ाया करते थे परंतु इन छोटी-मोटी चीजों से निराश न होकर सेल्वाकुमारी अपनी पढ़ाई पर ध्यान देते हुए आगे बढ़ती चली गई और उन्होंने यह साबित कर दिया कि किसी भाषा को बोलते ना आना यह कमजोरी नहीं होती बल्कि आप अपनी प्रतिभा के बल पर ही सफलता प्राप्त कर सकते हो।

Advertisement
Facebook Comments
Leave a Comment
Share
Published by
Harsh

This website uses cookies.